CISF: संसद भवन की सुरक्षा के लिए तैनात होंगे CISF के 29 अफसर, 3000 से अधिक जवानों की फोर्स का करेंगे नेतृत्व

देश में लोकतंत्र के सबसे बड़े प्रतीक संसद भवन की सुरक्षा सोमवार से पूरी तरह केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के हवाले की गई है। संसद परिसर की सशस्त्र सुरक्षा करने के लिए 3,300 से अधिक सीआईएसएफ के जवानों के दल को तैनात किया गया है। इस दल की अगुवाई के लिए 29 अधिकारियों को भी तैनात किया जाएगा। 

29 अधिकारियों को तैनात किया जाएगा

सूत्रों के हवाले से खबर है कि 3,317 कर्मियों की इस टुकड़ी का नेतृत्व 29 अधिकारियों द्वारा किया जाएगा। इन अफसरों में एक उपमहानिदेशक, एक वरिष्ठ कमांडेंट, दो कमांडेंट, सात डिप्टी कमांडेंट और 18 असिस्टेंट कमांडेंट को शामिल किया जाएगा। इनमें से दो अधिकारी फायर विंग से होंगे। सूत्रों का कहना है कि सेना ने संसद परिसर की सुरक्षा में फायर कॉम्बेट यूनिट को भी शामिल किया है। 

पिछले वर्ष हुई थी सुरक्षा में चूक

केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 1,400 कर्मचारियों के हटने के बाद सीआईएसएफ के 3,317 र्मी आतंकवाद रोधी और अन्य सुरक्षा दायित्वों की जिम्मेदारी को पूरी तरह अपने हाथ में लिया है। पिछले वर्ष 13 दिसंबर को संसद सुरक्षा में चूक की घटना के बाद सरकार ने यह जिम्मेदारी सीआरपीएफ की जगह सीआईएसएफ को सौंपने का फैसला किया था। 13 दिसंबर, 2023 को शून्यकाल के दौरान दो लोग दर्शक दीर्घा से लोकसभा में कूद गए थे।

(खबर अपडेट की जा रही है)

2024-07-10T13:56:03Z dg43tfdfdgfd